Desh ki 'Amanat'

Desh ki 'Amanat'

जब जब नारी पे अत्याचार हुआ, हम हाथ पकड़कर  बैठे थेकोई दर्द नही, कोई  भय नही बिन फिक्र के ऐसे लेत...

Close